आपकी सुरक्षा हमारी प्राथमिकता है। कोरोनावायरस पर हमारी यात्रा सलाहकार पढ़ें (COVID-19).

स्वास्थ्य ट्रैवेल

तंदुरूस्ती का विचार किस तरह से स्पा और इनफिनिटी पूल्स से आगे बढ़ रहा है

लोगों में जागरूकता स्तर बढ़ने के साथ बढ़ते तनाव के स्तरों के कारण आज वेलनेस पर्यटन एक ट्रिलियन डॉलर की अर्थव्यवस्था बन गया है। हमारी तेज गति वाली, अधिक दबाव वाली जिंदगी से, जहां हमारे जीवन पर तकनीक के अभूतपूर्व नियंत्रणों के कारण दबाव और भी अधिक है, से बहुप्रतीक्षित लेकर समय निकालकर वेलनेस के गंतव्यों और रिट्रीट्‌स पर जाना अब बढ़ता जा रहा है। इन वज़हों को देखते हुए, बाज़ार की वृद्धि, जो कि लोगों की ’ s डिस्कनेक्ट, रिसेट करने और नई शुरूआत करने की आवश्यकताओं से प्रेरित है, यह अप्रत्याशित है।

ग्लोबल वेलनेस इंस्टीट्‌यूट के अनुसार, विश्वस्तर पर वेलनेस उद्योग जो कि 2017 में USD 4.2 ट्रिलियन का उद्योग था इसमें USD 639 बिलियन की राशि उसी साल वेलनेस पर्यटन के लिए समर्पित की गई। वेलनेस के बारे में दृष्टिकोण अब सजे-धजे स्पा और इनफिनिटी पूल से आगे बढ़ रहे हैं, और अब ऐसे सम्पूर्ण अनुभवों की तलाश की जा रही है जिनमें शारीरिक उपचारों के रोगशामक पहलुओं, आध्यात्मिकता, खानपान, और यहां तक कि कलात्मक अभिरूचियों की भी खोजबीन की जा सके।

वेलनेस अब हमारे दैनिक जीवन के हर पहलू से जुड़ गया है, चाहे यह कार्य हो, यात्रा हो, आमोद-प्रमोद हो अथवा स्वास्थ्यसेवा (हेल्थकेयर) हो, और इससे इन सेवाओं के बारे में सोच और उपयोग के तरीके बदल गए हैं। इस संबंध में, स्वास्थ्य के प्रति सचेत आज के ’ s पर्यटकों के लिए एक अद्वितीय यात्रा गंतव्य बनने के लिए दुबई’ s की वृद्धि होने के साथ एमिरात विश्वस्तरीय स्पा, वेलनेस सेंटरों, और स्वास्थ्य सुविधाओं का घर बनता जा रहा है।

MENA स्पा मार्केट में 14 फीसदी हिस्सेदारी के साथ यूएई (UAE) मध्य पूर्व वेलनेस पर्यटन बाज़ार में भी नेतृत्व करता है।  वेलनेस पर्यटन, यूएई (UAE)’ s पर्यटन उद्योग में लगभग 12 से 13 प्रतिशत का योगदान करता है जो लगभग USD 36 बिलियन के बराबर है। वेलनेस पर्यटन पैटर्न में एक अन्य बड़ा बदलाव ये है कि पर्यटक अब केवल स्पा सेवाएं नहीं ढूंढते, बल्कि वे कॉस्मेटिक प्रक्रियाओं जैसे कि एंटी-एजिंग उपचारों के अलावा सम्पूर्ण स्वास्थ्य व नवजीवन देने वाली अन्य उपचार विधियों की तलाश करते है। जैसे कि आयुर्वेद, मध्य-पूर्व का असली स्पा, योगा थेरेपी, खूबसूरती की परंपरागत विधियां जैसे कि‘ हमाम, ’ आदि।

5,000-वर्ष पुरानी परंपरा जिसे कि जीवन का विज्ञान कहा जाता है, यह आयुर्वेद है जिसे हमारी अपनी फिजियोलॉजी और साइकोलॉजी की गतिशीलताओं पर भोजन, जड़ी-बूटियों, भावनाओं, जलवायु और जीवनशैली के प्रभावों पर आधारित जीवन विधि के रूप में सर्वोत्तम वर्णित किया जा सकता है। इस विज्ञान के अनुसार जैव-ऊर्जा सिद्धांतों का असंतुलन, जो कि तीन दोष अथवा ‘ त्रिदोष’ वात, पित्त और कफ कहलाते हैं, के कारण रोग उत्पन्न होते हैं। इसलिए, आयुर्वेद उपचार इन त्रिदोषों का संतुलन बनाने पर केंद्रित है।

त्वचा, चेहरे और आंखों को नया जीवन देने वाले उपचार भी अनेक लोगों द्वारा पसंद किए जाते हैं, जिनका श्रेय उच्च सुयोग्य वेलनेस सेंटरों, स्पा और खासतौर से प्रशिक्षित कर्मचारियों की बड़ी संख्या को जाता है जो पर्यटकों को निजी देखभाल प्रदान करते हैं। इसके अलावा, हाल ही में दुबई हेल्थ अथॉरिटी (DHA) और एमिरात्स हॉस्पिटल, जुमायरा द्वारा पुनरूत्पादक औषधि (रिजेनरेटिव मेडिसिन) और स्तंभ कोशिका (स्टेम सेल) उपचार की पेशकश ने इस सेक्टर के भविष्य की एक झलक हमारे सामने प्रस्तुत कर दी है।

और कहानियां

अभिगम्यता (उपलब्धता) के विकल्प

लॉगिन करें

मुझे याद रखें

खाता नहीं है

सुविधा लॉगिन

पंजीकरण करें

पहले से ही खाता है