आपकी सुरक्षा हमारी प्राथमिकता है। कोरोनावायरस पर हमारी यात्रा सलाहकार पढ़ें (COVID-19).

10-04-2019

रोहिंग्या शरणार्थियों के लिए नूर दुबई फाउंडेशन ने मुफ्त नेत्र उपचार प्रदान किया

एक स्वास्थ्य सर्वेक्षण में यह पाए जाने के बाद, कि बांग्लादेश में 50,000 रोहिंग्या शरणार्थियों को आंखों के इलाज की ज़रूरत है, रोहिंग्या शरणार्थियों के लिए नूर दुबई फाउंडेशन ने मुफ्त नेत्र उपचार प्रदान करने की पहल की। नूर दुबई फाउंडेशन एक अलाभ्कारी संगठन है, जिसने 2008 में अपनी स्थापना के बाद से 27 मिलियन से अधिक लोगों को लाभान्वित किया है, जिसका ध्येय अंधता के रोकथामयोग्य स्वरूपों का इलाज करना, अंधता उत्पन्न करने वाले रोगों के फैलने से रोकथाम करना, और अंधता के कारणों व उनसे बचाव के उपायों के बारे में जागरूक करना है। शरणार्थियों के लिए संयुक्त राष्ट्र के उच्चायुक्त का अनुमान है कि म्यांमार से 750,000 से अधिक मुस्लिम अल्पसंख्यक शरणार्थी, अगस्त 2017 से बांग्लादेश में गए। कोक्स's बाज़ार शहर में 30 शिविरों में शरणार्थी रहते हैं। एक स्वास्थ्य सर्वेक्षण में यह पाया गया कि 50,000 रोहिंग्या शरणार्थियों को आंखों के इलाज की ज़रूरत है।“ यूएई रोहिंग्या शरणार्थियों को मानवतावादी सहायता प्रदान करने में लगातार एक महत्त्वपूर्ण भूमिका निभा रहा है। शरणार्थियों के शिविरों में आवश्यक उपचार और निरोधात्मक नेत्र देखभाल सुविधाएं मौजूद नहीं थीं। शिविरों के निकट हॉस्पिटल जो आंखों की बुनियादी देखभाल सुविधा उपलब्ध कराता है, वह एक घंटे से भी अधिक दूरी पर है, और उनके पास संसाधन भी सीमित हैं। हॉस्पिटल में न केवल दो ही डॉक्टर हैं, बल्कि उनमें से भी एक विजिटिंग डॉक्टर है। ये सभी कारक, शिविरों में रहने वाले लोगों के लिए आवश्यक उपचार प्राप्त करना कठिन बना देते हैं।” डॉ मनाल तरयाम, CEO, नूर दुबई फाउंडेशन ने बताया कि इसलिए नूर दुबई फाउंडेशन ने फ्रेड हॉलोज फाउंडेशन और बांग्लादेश ’ s स्वास्थ्य मंत्रालय के सहयोग से 2,000 शरणार्थियों को आंखों का आवश्यक उपचार उपलब्ध कराया और जनवरी 2019 से अब तक 500 सर्जरी की जा चुकी हैं। डॉ तरयाम ने कहा कि नूर दुबई फाउंडेशन इस वर्ष फरवरी के अंत तक उपचार सुविधाएं उपलब्ध कराता रहेगा। आगे उन्होंने कहा कि फाउंडेशन, वर्तमान में अपनी नेत्र उपचार सेवाओं का विस्तार करने की संभावनाओं का अध्ययन कर रहा है। इस दौरान, इयान विसहार्ट, CEO] फ्रेड हॉलोज फाउंडेशन ने कहा कि, “ अपने देश से निर्वासित होने वाले शरणार्थियों का जीवन काफी कठिन हो जाता है, खासकर उनका, जिनमें आंखों की कोई ऐसी समस्याएं होती हैं जिनका इलाज किया जा सकता है। हमने अनेक कष्टभरी दास्तानें सुनी हैं; इसलिए , उनकी दृष्टि और आशाएं लौटाने के लिए नूर दुबई फाउंडेशन से साझेदारी एक बहुत महान कदम है। फ्रेड हॉलोज फाउंडेशन, रोहिंग्या शरणार्थियों को दृष्टि सुधार में मदद के लिए हमसे साझेदारी हेतु नूर दुबई फाउंडेशन का आभार व्यक्त करता है।”

अभिगम्यता (उपलब्धता) के विकल्प

लॉगिन करें

मुझे याद रखें

खाता नहीं है

सुविधा लॉगिन

पंजीकरण करें

पहले से ही खाता है